करणी सेना ने छेड़ा जातिगत आरक्षण खत्म करने के लिए आन्दोलन

21 मांगों को लेकर सर्व समाज लाखों की तादाद में राजधानी भोपाल पहुँचा

मध्यप्रदेश में सर्व समाज तथा राजपूत संगठनों ने आरक्षण की मांग के साथ भोपाल में प्रदर्शन शुरू कर दिया है। ये प्रदर्शन आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग को लेकर चल रहा है, जिसमें करणी सेना मुख्य भूमिका में है । देखते ही देखते पिछले दो दिनों में इस प्रदर्शन ने बड़ा रूप ले लिया है तथा लाखों की संख्या में देशभर से करणी सेना तथा राजपूत समाज के लोग भोपाल के जम्बूरी मैदान में जुट चुके हैं ।बता दे कि ये विरोध प्रदर्शन 21 सूत्रीय मांगों को लेकर किया जा रहा है ।

करणी सेना और अन्य संगठनों ने अपने आंदोलन के दौरान आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग करते हुए कहा कि समाज के हर वर्ग के गरीबों को आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए। एससी-एसटी एक्ट में बिना जांच के गिरफ्तारी पर रोक लगे तथा इसके साथ ही सामान्य-पिछड़ा एक्ट भी बने जो सामान्य पिछड़ा वर्ग के हितों की रक्षा कर सके। ईडब्ल्यूएस आरक्षण में भूमि और मकान की बाध्यता समाप्त कर 8 लाख की वार्षिक आय को ही आधार मानकर आरक्षण दिया जाए। आंदोलनकारियों ने बेरोजगारों को रोजगार दिलाने के लिए भर्ती कानून बनाने की मांग भी की।

इसके अतिरिक्त अतिथि शिक्षकों, रोजगार सहायकों और संविदा स्वास्थ्यकर्मियों को नियमित करने की मांग भी रखी है। इसके साथ ही क्षत्रीय महापुरुषों के इतिहास से छेड़छाड़ करने पर तुरंत रोक लगाने की मांग करते हुए इतिहास संरक्षण समिति बनाने की बात भी कही।

ये मांगे पूरी न होने पर राजनीति में उतरकर तख्तापलट करने की चेतावनी

आंदोलनकारियों ने चेतावनी दी कि हमारी मांगें पूरी नहीं होती हैं तो हम तख्तापलट भी कर सकते हैं । वहीं मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने सर्व समाज की नाराज़गी कम करने के लिए महाराणा प्रताप जयंती पर शासकीय अवकाश की घोषणा की थी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *